छ़िदवाड़ा जिले में 3 माह में बनी गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड की हैट्रि

छिंदवाड़ा जिले में बच्चों और युवाओं द्वारा चित्रकला, भजन गायन और सामूहिक विवाह के क्षेत्र में तीन विश्व कीर्तिमान निर्मित हुए। यह सफलता अपने जिले को विभिन्न क्षेत्रों में अव्वल स्थान पर रखने की भावना की परिचायक है।


छिन्दवाड़ा में कॉर्न फेस्टिवल, जो 15-16 दिसम्बर, 2019 को हुआ था, से संबंधित विषयों पर केन्द्रित चित्रकला प्रतियोगिता में 7 दिसम्बर को 2 लाख 75 हजार स्कूली विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। प्रतियोगिता में सर्वाधिक मक्का उत्पादन की छिन्दवाड़ा जिले की उपलब्धि और कॉर्न फेस्टिवल को प्रतिभागी बच्चों ने तूलिकाओं से कागज पर उतारा और कल्पनाओं के रंग भरे। एक साथ इतनी संख्या में एक ही समय चित्र बनाने के लिये छिन्दवाड़ा का नाम गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में शामिल किया गया।


इसके पश्चात दूसरा विश्व कीर्तिमान 6 जनवरी 2020 को बना जब राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की छिन्दवाड़ा यात्रा के 99 वर्ष पूर्ण होने पर बच्चों ने गाँधी जी के प्रिय भजन 'वैष्णव जन...' के गायन में उत्साह से हिस्सा लिया। कुल 25 हजार बच्चों और अन्य लोगों ने एक साथ यह भजन प्रस्तुत किया।


जिले में तीसरा विश्व कीर्तिमान मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की मौजूदगी में बना जब 21 फरवरी को 3 हजार 353 जोड़ों का विवाह एक साथ सम्पन्न हुआ।


उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह एवं दिव्यांग विवाह प्रोत्साहन योजना अंतर्गत छिंदवाडा के पुलिस ग्राउण्ड में आयोजित इस सामूहिक विवाह सम्मेलन के “गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड” में शामिल होने पर कार्यक्रम स्थल पर ही मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ को गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड के साउथ एशिया के हेड श्री आलोक कुमार ने गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड का प्रमाण-पत्र प्रदान किया। इस तरह मात्र तीन माह की अवधि में गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में तीन बार दर्ज होने की उपलब्धि छिन्दवाड़ा जिले के खाते में दर्ज हो गई है।