मंत्री यादव द्वारा प्रदेश की पहली सोर्टेड सेक्स्ड सीमन लैब का भूमि-पूजन


पशुपालन, मत्स्य विकास एवं मछुआ कल्याण मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने भदभदा वुल फार्म परिसर में प्रदेश की पहली एवं देश की दूसरी लगभग 50 करोड़ रुपये लागत की सोर्टेड सेक्स्ड सीमन लैब का भूमि-पूजन किया। एस.टी. जेनेटिक्स कम्पनी के सहयोग से यह लैब 3 वर्ष में तैयार हो जायेगी।


मंत्री यादव ने बताया कि लैब में सभी भारतीय गौ-भैंस वंशीय पशुओं के सोर्टेड सेक्स्ड सीमन तैयार किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि कृत्रिम गर्भाधान से मादा वत्स (बछिया) ही पैदा होंगी, जिससे सड़कों पर निराश्रित गौ-वंश को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी।


इस साल 30 लाख डोजेज वीर्य संकलन का लक्ष्य


मंत्री श्री यादव ने केन्द्रीय वीर्य संस्थान परिसर का निरीक्षण किया। अधिकारियों ने बताया कि परिसर में 16 उन्नत किस्म की नस्ल के सांड एवं भैंसवंशीय नर पशु हैं। यहाँ देशी एवं विदेशी नस्ल के ऐसे सांड भी हैं, जो दूध उत्पादन में वृद्धि के लिये विशेष रूप से जाने जाते हैं। संस्थान में विभिन्न नस्ल के 190 सांडों से वीर्य संकलित किया जाता है। वर्ष 2019-20 में कुल 30 लाख डोजेज वीर्य संकलित किये जाने का लक्ष्य है, जिसका उपयोग पूरे देश में कृत्रिम गर्भाधान के लिये किया जायेगा।


इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव, प्रबंध संचालक  एच.बी.एस. भदौरिया एवं अमेरिकन कम्पनी एस.टी. जेनेटिक्स के प्रतिनिधि श्री प्रकाशन उपस्थित थे।