बदलाव के अनुरूप खुद को तैयार करें जनसम्पर्क अधिकारी

जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने जनसम्पर्क अधिकारियों से कहा है कि समाज में आये बदलाव के अनुरूप खुद को तैयार करें। उन्होंने कहा कि परंपरागत प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया के साथ अब डिजिटल और सोशल मीडिया का भी युग है। श्री शर्मा ने कहा कि जनसंचार के साधनों और तकनीक में आ रहे बदलाव को समझें और उसका बेहतर उपयोग करने के लिये स्वयं को सक्षम बनाएं। श्री शर्मा प्रदेश के जिला जनसम्पर्क अधिकारियों की कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।


मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों, कार्यक्रमों और योजनाओं की जानकारी जनता तक पहुंचाने में जनसम्पर्क विभाग की मुख्य भूमिका है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि स्थानीय स्तर पर सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं, कार्यक्रमों और नीतियों की जानकारी देने के साथ-साथ इन से लाभांवित व्यक्तियों, समूहों की जानकारी भी सक्सेज स्टोरी के तौर पर प्रसारित और प्रचारित करें। मीडिया से बेहतर समन्वय रखें। श्री शर्मा ने संचालक को निर्देश दिये कि माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय संचार एवं पत्रकारिता विश्वविद्यालय के सहयोग से प्रशिक्षण का वार्षिक कलैंडर तैयार करें और उसके अनुरूप प्रशिक्षण आयोजित करें। उन्होंने प्रत्येक तीन माह के अंतराल में जिला जनसम्पर्क अधिकारियों की राज्य स्तरीय कार्यशाला आयोजित करने के लिए भी कहा।


सचिव जनसम्पर्क श्री पी. नरहरि ने भी अधिकारियों को संबोधित किया। संचालक जनसम्पर्क श्री ओ.पी. श्रीवास्तव ने कार्यशाला की रूपरेखा प्रस्तुत की। अपर संचालक श्री एल.आर सिसोदिया, श्री सुरेश गुप्ता, डॉ. एच.एल चौधरी और जनसम्पर्क विभाग के अन्य अधिकारी कार्यशाला में मौजूद थे।