भाजपा विधायकों का इस्तीफा, सीएम हाउस छावनी में तब्दील


मध्यप्रदेश में इस समय सियासी उबाल पर है। सीएम हाउस को छावनी में तब्दील हो चुका है। यह सब आज शाम की दो घटनाओं के बाद हुआ है, जब एक कांग्रेसी विधायक हरदीप सिंह ने सरकार पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए इस्तीफा दे दिया, तो दूसरी घटना ये है कि जिन कांग्रेसी विधायक बिसाहू लाल को लेकर हॉर्सट्रेडिंग की आशंका व्यक्त की जा रही थी, उनके परिजनों ने थाने में विधायक की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी है।


हालांकि जब से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भाजपा के नेताओं पर विधायक खरीदी की कोशिशों के आरोप लगाए हैं, तभी से यहां सियासी खलबली का माहौल है, लेकिन आज जैसे ही कांग्रेस के दो विधायकों को लेकर नई तरह की खबरें आईं, खासकर मध्यप्रदेश कांग्रेस में उबाल आ गया है।


इन खबरों के बाद मध्य प्रदेश में सियासी उठापटक में तेजी आ गई है। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव दिल्ली के लिए रवाना हुए। शिवराज सिंह चौहान, नरोत्तम मिश्रा पहले से ही दिल्ली में ही हैं।


विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति का अधिकृत वक्तव्य आया कि मुझे सुवासरा विधायक हरदीप सिंह ढंग के इस्तीफ़ा देने की ख़बर मिली है। उन्होंने मुझसे प्रत्यक्ष रूप से मिलकर इस्तीफ़ा नहीं सौंपा है। जब वे प्रत्यक्ष रूप से मुझसे मिलकर इस्तीफ़ा सौपेंगे तो मैं नियमानुसार उस पर विचार कर आवश्यक कदम उठाऊँगा।


डंग के इस्तीफे पर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा का बयान आया कि प्रताड़ित विधायक कांग्रेस से इस्तीफा दे रहे हैं। कांग्रेस सरकार में विधायक और आम जनता सभी पीड़ित हैं। नेता प्रतिपक्ष भार्गव ने भी कहा है कि विधायक डंग के इस्तीफे में लिखी गई उपेक्षा की बात दरअसल, सभी कांग्रेसी विधायकों की पीड़ा है।


सीएम कमलनाथ ने मुख्यमंत्री निवास में मंत्रियों की बैठक बुला ली है। सीएम हाउस में जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा, कैबिनट मंत्री जयवर्धन सिंह, केबिनेट मंत्री हनी बघेल, विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति, सज्जन सिंह वर्मा मौजूद हैं।


सीएम हाउस में सिंधिया कैंप के दो मंत्री तुलसी सिलावट व गोविंद राजपूत के भी मौजूद होने की खबरें हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया दिल्ली में हैं, तबकि दीपक बावरिया दिल्ली के लिए रवाना हुए हैं।


पूर्व सीएम दिग्विजय कल 6 मार्च को सुबह 10.15 बजे एयर इंडिया की फ्लाइट से भोपाल पंहुचेंगे।


उधर, मन्दसौर कांग्रेस जिलाध्यक्ष राघवेंद्र सिंह का दावा है कि डंग के इस्तीफे का पत्र फर्जी है। उनका दावा है कि फ़र्ज़ी हस्ताक्षर कर विधानसभा अध्यक्ष को पत्र भेजा गया है।


सूत्रों ने ताजा खबर दी है कि भाजपा विधायक शरद कौल व नारायण त्रिपाठी ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया है। वे कांग्रेस में शामिल होने वाले हैं। दोनों के सीएम हाउस में मौजूद होने की खबर आ रही हैं। फिलहाल, मध्यप्रदेश की राजनीति में अगले पल क्या होने वाला है, सटीक कहना मुश्किल है।