गरीबों को मुफ़्त राशन की व्यवस्था और आवश्यकता पड़ने पर निजी हॉस्पिटल को सरकारी अधिसूचित किया जाए

कार्यवाहक मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देशों पर मध्यप्रदेश प्रशासन ने कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के लिए पुख्ता तैयारियाँ की हैं । 


कमलनाथ के निर्देश पर सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से वंचित वर्ग के लोगों को 3 माह का राशन एक साथ वितरित किया जा रहा है तथा एक माह का राशन मुफ़्त में दिया जा रहा है । 


साथ ही उन्होंने  प्रदेश के नागरिकों को आश्वस्त किया है कि इस महामारी से बिल्कुल भी चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है ।समूची प्रदेश सरकार दृढ़ता से इस महामारी से निपटने के लिए तैयार है ।प्रत्येक जिले की स्वास्थ्य तैयारियों की समीक्षा कर ली गई है । 


मास्क और सेनेटाइज़र की भी पर्याप्त व्यवस्था की गई है । 


साथ ही कमलनाथ द्वारा  प्रशासन को निर्देशित किया गया है कि आवश्यकता पड़ने पर सभी निजी चिकित्सालयों को सरकारी अधिसूचित किया जाकर इलाज सुनिश्चित किया जाए । उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश में समय रहते हम लोगों ने उचित कदम उठाए हैं । 


मध्यप्रदेश में अभी यह महामारी दूसरी स्टेज में है। हम सभी नागरिकों ने अगर सतर्कता रखी तो हम इस महामारी को किसी हद तक यहीं सीमित कर  देंगे । 


अभी जबलपुर में चार और भोपाल में एक कोरोना वायरस का केस पाया गया है । हमने दोनों ही शहरों को लॉक डाउन किया है । 


प्रदेश के नागरिकों से अपील है कि वे ज़रूरी कामों के लिए ही घरों से बाहर निकलें  और एक स्थान पर एकत्रित न हों । 


विश्वभर में फैली इस महामारी से पूरी दुनिया के देश एकजुट होकर इसका मुकाबला कर रहे हैं । पूरी दुनिया में  अब तक इसके 315,267 केसेस पाए गए हैं, जिसमें से 95,892 मरीज इस बीमारी से पूरी तरह ठीक हो चुके हैं  और बाकी का इलाज जारी है । वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार इस बीमारी की मृत्यु दर 3.4% है अर्थात् जो केसेस रिपोर्ट हुए हैं उनमें से 3.4% लोगों की मृत्यु हुई है ।इस बीमारी का इनक्युबेशन पीरियड  अर्थात् इससे संक्रमित होने के बाद इसके लक्षण शरीर में दिखाई देने का समय 2 से 14 दिन है।


  कमलनाथ ने प्रदेश वासियों से आग्रह किया है कि बुखार, कफ़ और साँस लेने में तकलीफ़ हो तो बग़ैर लापरवाही किये हाॅस्पिटल में अपनी जाँच कराएँ । साथ ही उन्होंने प्रशासन को निर्देशित किया है कि जनजागरुकता के लिये  सभी राजनैतिक और सामाजिक संगठनों का सहयोग इस महामारी से निपटने के लिये लिया जाए।