कोरोना वायरस: इटली के 14 प्रांतों में सख़्त यात्रा प्रतिबंध


इटली के अधिकारियों के मुताबिक़ रविवार को सिर्फ़ एक दिन में कोरोना वायरस से 133 लोगों की मौत हुई और अब तक वहां मरने वालों का आंकड़ा 366 पर पहुंच गया है.


इटली की सिविल प्रोटेक्शन एजेंसी के मुताबिक़ कुल मामलों की संख्या एक ही दिन में 25 प्रतिशत बढ़कर 5883 से 7375 पर पहुंच गई.


सरकार ने वायरस को फैलने से रोकने के लिए रविवार को बेहद सख़्त क़दम उठाए हैं. दसियों लाख लोग इन नियमों का पालन कर रहे हैं.


नए नियमों के तहत लॉमबार्डी और 14 अन्य प्रांतों के 1.6 करोड़ लोगों को यात्रा करने के लिए विशेष अनुमति लेनी होगी.


प्रधानमंत्री जूज़ेप्पे कोंटे ने देशभर में स्कूलों, जिमों, संग्रहालयों, नाइटक्लबों और लोगों के जुटने के अन्य स्थानों को बंद करने की घोषणा की है.


 

ये प्रतिबंध तीन अप्रैल तक लागू रहेंगे.


ताज़ा आंकड़ों के बाद चीन के बाहर इटली में कोरोना संक्रमण के सबसे ज़्यादा मरीज़ हो गए हैं.


वहीं दक्षिण कोरिया में अब तक कुल 7313 मामलों की पुष्टि हो चुकी है.


एक चौथाई आबादी प्रभावित



इटली के चीफ़ आफ़ आर्मी स्टाफ़ साल्वातोर फ़ारीना में भी कोरोना संक्रमम की पुष्टि हुई है. उन्होंने कहा कि वो अपने आप ही अलग-थलग रह रहे हैं.इटली में बुज़ुर्गों की भी बड़ी आबादी रहती है. कोरोना वायरस ख़ास कर बुज़ुर्गों और पहले से गंभीर रूप से बीमार लोगों के लिए ख़तरनाक है.


लोगों को अलग-थलग करने के नए प्रयासों का मतलब ये है कि इटली की एक चौथाई आबादी अब प्रतिबंधों में है, ख़ासकर देश का उत्तरी अमीर इलाक़ा जिसे देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ भी माना जाता है.


एक करोड़ की आबादी वाले उत्तरी इलाक़े लॉमबार्डी में स्वास्थ्य सेवाएं भारी दबाव में हैं.


यहां मरीज़ों को अस्पतालों के गलियारों तक में रखना पड़ रहा है.


शनिवार देर रात नए सख़्त प्रतिबंधों की घोषणा करते हुए प्रधानमंत्री कोंटे ने कहा, "हम अपने नागरिकों के स्वास्थ्य की गारंटी करना चाहते हैं. हम जानते हैं कि इन क़दमों से लोगों को त्याग करना होगा, कई बार छोटे-छोटे त्याग और कई बार बड़े भी.



इसी तरह के प्रतबिंध चौदह अन्य प्रांतों पर भी लागू किए गए हैं.नए प्रतिबंधों के तहत लोग लॉमबार्डी में न दाख़िल हो सकेंगे और ना ही यहां से बाहर जा सकेंगे. मिलान यहां का मुख्य शहर है.


मिलान के हवाई अड्डे पर रविवार को भी कुछ उड़ाने उतरी जबकि कई पूर्व निर्धारित उड़ाने रद्द हो गईं.


वहीं इटली के प्रमुख एयरलाइन एलीटालिया का कहना है कि वह मिलान के माल्पेंसा एयरपोर्ट से सोमवार से उड़ाने रद्द कर देगी जबकि लिनाटे एयरपोर्ट से स्थानीय उड़ानें चालू रहेंगे. सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ाने अब सिर्फ़ रोम से चलेंगी.


दुनिया में और जगह कैसी स्थिति है?



अधिकतर लोगों की मौत चीन में हुई है. लेकिन रविवार को चीन में संक्रमण फैलने के बाद से सबसे कम मामले सामने आए हैं. इसका संकेत ये है कि चीन में संक्रमण की रफ़्तार कम हो रही है.अब दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के मामलों की तादाद 107000 को पार कर गई है. अब तक 3600 से अधिक लोग कोरोना संक्रमण की वजह से मारे गए हैं.


वहीं ईरान में सरकारी आंकड़ों के मुताबिक़ अब तक 6566 मामलों की पुष्टि हुई है जबकि 194 लोगों की मौत हो गई है.


हालांकि माना जा रहा है कि ईरान में वास्तविक संख्या बहुत अधिक हो सकती है ।



वहीं फ्रांस में सांसद भी वायरस की चपेट में आ रहे हैं. रविवार को दो और सांसदों के कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. अब तक कुल चार डिप्टी संक्रमित हो चुके हैं.सरकारी सूत्रों के हवाले से रविवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा गया था कि ईरान के उत्तरी प्रांत गिलान में ही अब तक 200 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि बाद में इस रिपोर्ट को हटा लिया गया.


फ्रांस में अब तक 1126 मामलों की पुष्टि हो चुकी है. यूरोप में इटली के बाद सबसे ज़्यादा संक्रमण के मामले फ्रांस में ही सामने आए हैं.


फ्रांस की सरकार ने एक हज़ार से अधिक लोगों के जुटने पर रोक लगा दी है.