राष्ट्रीय उद्यानों में आने वाले विदेशी पर्यटकों के स्वास्थ्य की जाँच की जाए

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतने और पूर्व से ही सभी जिलों में इसकी तैयारियाँ पुख्ता करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के जितने भी राष्ट्रीय उद्यान हैं उनके प्रवेश द्वार पर स्क्रीनिंग की व्यवस्था हो और विदेशी पर्यटक विशेषकर अलर्ट वाले देशों से आने वाले पर्यटकों के स्वास्थ्य की पूरी जाँच की जाए। श्री नाथ आज मंत्रालय में नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। जानकारी दी गई कि मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस का अभी तक कोई भी पॉजीटिव प्रकरण नहीं पाया गया है। बैठक में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि भारत सरकार द्वारा कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए निर्धारित गाईडलाईन का कड़ाई से पालन किया जाए। साथ ही आवश्यकता होने पर अतिरिक्त सावधानी भी बरती जाए। उन्होंने कहा कि इस बीमारी को लेकर जनता में जागरूकता लायी जाए। साथ ही जनता को यह भी बताया जाए कि मध्यप्रदेश में इसका कोई प्रकोप नहीं है ताकि लोग अनावश्यक चिंतित न हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलों के कलेक्टरों से कहा जाए कि वे अपने क्षेत्र में पर्याप्त व्यवस्थाएँ रखें और इस बीमारी से ग्रसित मरीज पाए जाने पर सभी आवश्यक सावधानी बरतें।


मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटन स्थलों के साथ ही विशेषकर राष्ट्रीय उद्यानों में इस बीमारी को लेकर विशेष सावधानी बरती जाए। उन्होंने कहा कि आंध्रप्रदेश और केरल ने इस बीमारी की रोकथाम के लिए जो व्यवस्थाएँ की हैं उनके अनुरूप ही प्रदेश में सभी इंतजाम किए जाए। बीमारी के लक्षण वाले मरीजों की तत्काल जाँच हो और उनके नतीजे निगेटिव आने पर उसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए।