सरकार की आज ही लोकसभा में वित्त विधेयक पारित कराने की तैयारी, पेट्रोल, डीजल पर बढ़ सकती है एक्साइज

कोरोना से बाजार में मचा कोहराम जारी है। 45 मिनट का लोअर सर्किट खुलने के बाद भी बिकवली नहीं थम रही है।  निफ्टी 11 तो बैंक निफ्टी 15 फीसदी टूट गया है। बाजार  करीब 6 साल के निचले स्तर पर दिख रहा है। प्राइवेट बैंक और ऑटो शेयरों में सबसे ज्यादा गिरावट दिख कही है। Axis Bank,Indusind 20 फीसदी से ज्यादा टूटे हैं। ICICI बैंक भी 15 फीसदी से ज्यादा फिसला है। Hero Moto और  Maruti में 12 से 14 फीसदी की गिरावट आी है। कई ऑटो कंपनियों ने 31 मार्च तक प्रोडक्शन बंद कर दिया है। कोरोना के बढ़ते कहर ने बाजार में घबराहट और बढ़ा दी है। INDIA VIX 72 के पार निकलकर Life High पर दिख रहा है। उधर डॉलर के मुकाबले रुपया रिकॉर्ड निचले स्तर पर चला गया है। इंट्रा डे में एक डॉलर का भाव 76 के पार निकल गया है। डॉलर इंडेक्स 3 साल के ऊपरी स्तर पर  दिख रहा है।


कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए सरकार की आज ही लोकसभा में वित्त विधेयक पारित कराने की तैयारी है। आज दोपहर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में फाइनेंस बिल में संशोधन पेश करेंगी।  सीएनबीसी आवाज़ के हाथ लगी जानकारी के मुताबिक फाइनेंस बिल में बदलाव करते हुए पेट्रोल, डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़ सकती है। स्पेशल एडिशनल एक्साइज ड्यूटी भी बढ़ सकती है। अभी पेट्रोल पर ये सीमा 10 रुपए और डीजल पर 4 रुपे प्रति लीटर है। अब इसे बढ़ाकर पेट्रोल पर 18 रुपये और डीजल पर  12 ड्यूटी संभव है।


सूत्रों के मुताबिक डीजल पर भी स्पेशल एडिशनल एक्साइज ड्यूटी लागू हो सकती है। ड्यूटी बढ़ने से सरकार की  आय`13,000 करोड़ रुपये बढ़ेगी। इसके अलावा ऑनलाइन कंपनियों पर टैक्स दायरा भी बढ़ सकता है। सूत्रों के मुताबिक भारतीय इंडिविजुअल को डिविडेंड पर भी राहत मिल सकती है। सरकार डिविडेंड पर टैक्स की दर भी  घटा सकती है। संसद का बजट सत्र आज ही खत्म हो सकता है। पहले बजट सत्र 3 अप्रैल तक चलना था।