वन मंत्री श्री उमंग सिंघार के निर्देश पर संरक्षित क्षेत्रों के आसपास रहने वाले युवक-युवतियों को कौशल विकास प्रशिक्षण देना आरंभ किया गया है। प्रथम चरण में 5 संरक्षित क्षेत्रों-कूनो राष्ट्रीय उद्यान और खिवनी, नौरादेही, रातापानी और रानी दुर्गावती अभयारण्य के 22 युवक-युवतियों का चयन कर उन्हें खजुराहो में आदिरातिथ्य (हॉसपिटेलिटी) का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण के बाद इन्हें अच्छे होटलों में सम्मानजनक काम मिल सकेगा।

खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल ने आज मंत्रालय में खनिज साधन विभाग के नवीन पोर्टल को www.mining.mp.gov:in लॉन्च किया। नवीन रेत नीति 2019 पर आधारित निविदाओं शिवपुरी, सीहोर एवं भिण्ड जिले के सफल निविदाकारों द्वारा प्रक्रिया पूर्ण कर अनुबंध उपरांत अब पोर्टल के माध्यम से ई.टी.पी. जारी कर सकेंगे।श्री जायसवाल ने कहा कि प्रथमत: इस पोर्टल का उपयोग मध्यप्रदेश रेत खनन परिवहन, भंडारण एवं व्यापार नियम 2019 के अन्तर्गत स्वीकृत रेत खदानों के ठेकों के लिए किया जावेगा, उसके बाद इसका उपयोग अन्य खनिजों के लिए भी किया जावेगा। इस पोर्टल की विशेषता से अवगत कराते हुए बताया कि इस पोर्टल के तहत जारी होने वाली ई.टी.पी. में कोई भी छेड़-छाड़ नहीं हो पाएगी। ई.टी.पी. में QR Code होगा जिसे किसी भी मोबाईल से स्केन किया जाकर TP की सत्यता प्रमाणित हो सकेगी।