17 मिनट में 40 करोड़ रुपए का दान, इस मंदिर के लिए लोगों ने कर दी नोटों की बारिश


स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के रूप में दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा देने वाले गुजरात में अब दुनिया का सबसे ऊंचा मंदिर भी बनने जा रहा है। विश्व उमिया फाउंडेशन की ओर से मां उमिया का मंदिर अहमदाबाद के एसजी हाईवे पर जसपुर में 100 बीघा जमीन पर बनाया जाएगा। इस मंदिर को लेकर लोगों की श्रद्धा का अंदाजा इस बात से लगाया गया कि मंदिर निर्माण में जब राशि कम पड़ गई तो 110 मिनट में 136 करोड़ रुपए का दान दे दिया गया।



मंदिर निर्माण के लिए शनिवार को दो दिवसीय शिलान्यास कार्यक्रम किया गया। विश्व उमिया फाउंडेशन ने 125 करोड़ रुपए का आर्थिक सहयोग जुटाने का लक्ष्य तय किया था। समारोह के समापन के बाद पता चला कि 40 करोड़ रुपए कम पड़ रहे हैं तभी मुख्य संयोजक आरपी पटेल ने मंच से कहा कि 40 करोड़ रुपए की व्यवस्था कम पड़ रही है। इसके बाद 110 मिनट यानी 2 घंटे से भी कम समय में 136 करोड़ रुपए दान आ गए। दिलचस्प बात यह है कि अंतिम 17 मिनट में 40 करोड़ रुपए आए।



 


बता दें कि इस मंदिर की डिजाइन को जर्मन और भारतीय आर्किटेक्ट ने मिलकर तैयार किया है। मंदिर के अंदर के हिस्से के व्यूइंग गैलरी से पूरे अहमदाबाद शहर का नजारा देखा जा सकेगा। यह व्यूइंग गैलरी तकरीबन 82 मीटर ऊंची होगी। मंदिर का गर्भगृह भारतीय संस्कृति के हिसाब से तैयार किया जाएगा और मंदिर के गर्भगृह में मां उमिया की मूर्ति 52 मीटर ऊंचाई पर प्रस्थापित की जाएगी। साथ ही यहा शिवलिंग भी स्थापित किया जाएगा।