बंदियों के प्रशिक्षण के लिए 5 करोड़ का स्थाई फंड

गृह एवं जेल मंत्री श्री बाला बच्चन ने जेलों में संचालित उद्योग, कौशल विकास एवं व्यावसायिक प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालन के लिये 5 करोड़ का स्थाई फंड बनाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने तकनीकी शिक्षा विभाग के समन्वय से बंदियों को वोकेशनल ट्रेनिंग उपलब्ध कराने को भी कहा। श्री बच्चन ने जेलों में प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए गठित 'मध्यप्रदेश कौशल विकास एवं व्यावसायिक बोर्ड' की प्रथम उच्च स्तरीय बैठक में यह जानकारी दी।


केन्द्रीय जेल बनेंगी विशेष उत्पादों का हब


जेल मंत्री श्री बच्चन ने केन्द्रीय जेल भोपाल, जबलपुर, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर और सागर को विशेष उत्पादों के लिये हब के रूप में विकसित करने को कहा है। उन्होंने इन जेलों में उत्पादित सामग्री के विक्रय के लिये आउटलेट स्थापित करने पर बल दिया। बैठक में इन जेलों में उत्पादन एवं वित्तीय प्रबंधन के लिये योजना का अनुमोदन भी किया।


बैठक में प्रमुख सचिव जेल श्री एस.एन. मिश्रा, सचिव जेल श्री राजीव दुबे, महानिदेशक जेल श्री संजय चौधरी सहित उद्योग, श्रम एवं अन्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।