भारत भवन का 38वाँ वर्षगांठ समारोह 13 से 23 फरवरी तक

संस्कृति मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ 13 फरवरी को भारत भवन की 38वीं वर्षगांठ पर 11 दिवसीय समारोह का शुभारंभ करेंगी। समारोह में अंतर्राष्ट्रीय सिरेमिक कला प्रदर्शनी, गोंड कला प्रदर्शनी, गायन, वादन, लोक संगीत, नृत्य, कहानी-पाठ, फिल्म और नाटक पर केंद्रित प्रस्तुतियाँ होंगी।


समारोह की शुरूआत 13 फरवरी को शाम 6 बजे अंतर्राष्ट्रीय सिरेमिक कला प्रदर्शनी से होगी। इसी शाम गोंड कला वर्ष पर सुश्री दुर्गा बाई के चित्रों की प्रदर्शनी का शुभारंभ होगा। पं. राजन, साजन मिश्र का गायन भी होगा। दूसरे दिन 14 फवरी को पंडित तेजेन्द्र नारायण (सरोद) और पंडित पूर्नायन चटर्जी (सितार) जुगलबंदी प्रस्तुत करेंगे। समारोह में 15 फरवरी को फिल्म 'मुगले-आजम' के प्रदर्शन के साथ दोपहर 2 बजे कार्यक्रम शुरू होंगे। विहान ड्रामा वर्क्स की नाटय संगीत प्रस्तुति और बहुभाषी कहानी पाठ होगा। चौथे दिन 16 फरवरी को फिल्म 'पाकीजा' का प्रदर्शन दोपहर 2 बजे होगा। इसी शाम बहुभाषी कविता पाठ होगा। पांचवें दिन 17 फरवरी को फिल्म 'कालापानी' का प्रदर्शन सुश्री तृप्ति नागर और सुश्री सौम्य, फाल्गुनी का गायन, हेमंत चौहान का लोक गायन होगा।


समारोह में छठवें दिन 18 फरवरी को फिल्म 'जुनून' का प्रदर्शन, सुश्री मणिमाला सिंह का गायन और सुश्री वी अनुराधा सिंह की कथक नृत्य नाटिका आम्रपाली की प्रस्तुति और सुश्री कुमकुम धर के निर्देशन में कथक की समूह प्रस्तुति होगी। समारोह में सातवें दिन 19 फरवरी को फिल्म 'परिचय' का प्रदर्शन, सुश्री शारदा और साथी कलाकारों का सैताम नृत्य, दुर्गेश भलावी और साथी कलाकारों का श्रमढोल नृत्य प्रस्तुत होगा। इसी शाम मालवी, निमाड़ी और बुंदेली लोकगायन भी होगा। आठवें दिन 20 फरवरी को नाटक अग्नि और बरखा का मंचन होगा। नौवें दिन 21 फरवरी को नाटक 'मैं राही मासूम' का मंचन किया जाएगा। समारोह के दसवें और ग्यारहवें दिन नाटक प्रदर्शन होंगे।


बहुकला केन्द्र भारत भवन में वर्षगांठ समारोह में नाटक मंचन में प्रवेश शुल्क 50 रूपए रहेगा। शेष कार्यक्रमों में प्रवेश नि:शुल्क रहेगा।