देश के कानून मंत्री बोले, कपिल मिश्रा और ताहिर हुसैन की तुलना ना की जाए

नई दिल्ली। देश के कानून मंत्री ने कहा है कि दिल्ली हिंसा के मामले में कपिल मिश्रा और ताहिर हुसैने के बीच नहीं की जा सकती है। जी हां दिल्ली हिंसा को लेकर कांग्रेस नेताओं के बयान पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने गांधी परिवार को जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि राजधर्म के नाम पर दिल्ली में कांग्रेस ने लोगों में उत्तेजना फैलाई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की तरफ से ऐसे कई बयान दिए गए। हम जानना चाहते हैं कि यह कौन सा राजधर्म है?बीजेपी के नेताओं के विवादित बयानों के सवाल पर रविशंकर ने कहा कि वरिष्ठ नेताओं ने ऐसे बयानों की भर्त्सना की है और पार्टी इस पर कार्रवाई करेगी। उन्होंने कहा कि ताहिर हुसैन पर आईबी ऑफिसर की हत्या और दंगा भड़काने का आरोप है और कपिल मिश्रा से उन आरोपों की तुलना नहीं की जा सकती है। रविशंकर ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व पीएम नागरिकता कानून के समर्थन में थे और अशोक गहलोत ने कई पत्र लिखे और अब वह सवाल उठा रहे हैं। ये कौन सा राजधर्म है। उन्होंने कहा कि आपने बात उठाई थी 10 साल में पूरा नहीं किया।