गुमला में बोले राष्ट्रपति- मैं पिछले 4 वर्षों से यहां आना चाह रहा था लेकिन समय नहीं मिला

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शनिवार को गुमला जिला के विशुनपुर प्रखंड मुख्यालय स्थित विकास भारती पहुंचे जहां पर उनका स्वागत विकास भारती के सचिव अशोक भगत के द्वारा किया गया। वहां जाकर उन्होंने विकास भारती के कार्यो को परखा। राष्ट्रपति ने कहा कि मैं पिछले 4 वर्षों से यहां आना चाह रहा था लेकिन, मौसम प्रतिकूल होने से और समय नहीं मिलने की वजह से नहीं आ पा रहा था। राष्ट्रपति ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि सच्ची लगन और निष्ठा पूर्वक यदि आप समाज का काम करते हैं तो एक ना एक दिन जरूर आपको मुकाम मिलेगा। उन्होंने लोगों को अपने बच्चों को शिक्षित करने के लिए प्रेरित किया एवं कहा कि शिक्षा ही समाज की रीढ़ है। यदि आप शिक्षित है तो निश्चित रूप से आप सभ्य भी होंगे। मौके पर राष्ट्रपति को विकास भारती के आश्रम में पढ़ने वाले बच्चों के द्वारा योग तथा सूर्य नमस्कार करके दिखाया गया। साथ ही बच्चों ने राष्ट्रपति को गुलदस्ता भेंट किया। राष्ट्रपति टाना भगतों से भी मिले और उनके प्रेरणास्रोत जतरा टाना भगत के द्वारा किए गए कार्यों को याद कर नमन किया एवं उनके बताए मार्ग पर चलने के लिए लोगों का आह्वान किया। इस मौके पर राष्ट्रपति विशुनपुर विकास भारती के विभिन्न स्कूलों का भी निरीक्षण किया एवं आश्रम में पढ़ने वाले बच्चे बच्चियों से जाकर खुद मिले और उनका हौसला बढ़ाया।