कोरोना वायरस: Air India ने फिर कर दिया कमाल, जापान में फंसे 119 भारतीय कर रहे धन्यवाद

नई दिल्ली: एयर इंडिया (Air India) ने भारतीय का एक बार फिर दिल जीत लिया है. सरकारी एयरलाइंस ने जापान में डायमंड प्रिंसेस क्रूज जहाज पर फंसे 119 भारतीय और पांच विदेशी नागरिकों के सुरक्षित निकाल लिया है. आज एयर इंडिया सभी नागरिकों को लेकर दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरा. विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने यह जानकारी दी. इससे ठीक पहले भारतीय सेना का विमान C17 ग्लोबमास्टर चीन से लगभग 112 भारतीयों और 36 विदेशी नागरिकों को लेकर तड़के सुबह 6.30 बजे दिल्ली एयरपोर्ट में लैंड कर गया. यात्री इसके लिए एयर इंडिया को धन्यावाद दे रहे हैं. साथ ही विदेश मंत्री जयशंकर ने भी सरकारी एयरलाइंस का धन्यवाद किया है.


जयशंकर ने ट्वीट किया, "एयर इंडिया का विमान कोरोनावायरस के कारण जापान के डायमंड प्रिंसेस पर फंसे 119 भारतीयों और श्रीलंका, नेपाल, दक्षिण अफ्रीका और पेरू के पांच विदेशी नागरिकों को लेकर टोक्यो से चला विमान दिल्ली में लैंड हुआ है. जापानी प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई गईं सुविधाओं के लिए आभार. एयर इंडिया को एक बार फिर धन्यवाद."


सभी यात्रियों को रखा जाएगा जांच केंद्र में
जानकारो का कहना है कि सभी यात्रियों को एयरपोर्ट से सीधे इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस (ITBP) के छावला स्थित स्वास्थ्य केंद्र में ले जाया जाएगा. यहां चीन से आए 148 और जापान से पहुंचे 124 यात्रियों को एहतियातन निगरानी के लिए रखा जाएगा. इन सभी यात्रियों को 14 दिन की जांच के बाद घर जाने की इजाजत दी जाएगी.


16 भारतीय कोरोना वायरस जांच में पॉजिटिव 
जानकारों का कहना है कि वतन वापस लौटे कुल 272 यात्रियों में से 16 भारतीयों में कोरोना वायरस पाया गया है. इन सभी पॉजिटीव मामलों की जांच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय करेगी. इनके सैंपल एनआईवी पुणे में भेजे जाएंगे. लैब रिपोर्ट के बाद ही इनका उपचार शुरू किया जाएगा.


इससे पहले कोरोना वायरस के प्रकोप से जूझ रहे पड़ोसी देश चीन की तरफ भारत ने मदद का हाथ बढ़ाया. बुधवार को भारतीय सेना का विमान 15 टन आपातकालीन चिकित्सा उपकरणों के साथ भारतीय वायुसेना का विशेष विमान चीन के वुहान शहर के लिए रवाना हुआ. विमान में चिकित्सा उपकरण, दवाइयां, मास्क और दस्ताने चीन भेजे गए. चीन ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मास्क और चिकित्सा उपकरणों की आपूर्ति प्रदान करने का अनुरोध किया था. 


आपको बता दें कि चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप से 2600 से ज्यादा लोगों की मृत्यु हो गई है जबकि रोजाना सैकड़ों नए मामले सामने आ रहे हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि अब तक कोरोना वायरस से 80,000 से ज्यादा लोग प्रभावित हो चुके हैं.