सिद्धहस्थ शिल्पियों को मिलेंगे राज्य-स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार

राज्य शासन ने सिद्धहस्थ शिल्पियों को राज्य स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार प्रदान करने का निर्णय लिया है । राज्य हस्तशिल्प एवं हथकरघा विकास निगम ने  सिद्धहस्थ शिल्पियों से पुरस्कार के लिये कलाकृतियों सहित 30 अप्रैल तक जिला स्तर पर प्रविष्टियाँ आमंत्रित की हैं। हस्तशिल्प एवं हथकरघा विकास निगम के कार्यालय अथवा जिला ग्रामोद्योग अधिकारी कार्यालय, जिला पंचायत में आवेदन जमा किये जा सकते हैं।


राज्य स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार में प्रथम पुरस्कार में एक लाख, द्वितीय पुरस्कार में 50 हजार, और तृतीय पुरस्कार में 25 हजार रूपये प्रदान किये जाएंगे। तीन शिल्पियों को 15-15 हजार रूपये प्रोत्साहन पुरस्कार भी दिये जाएंगे।


पुरस्कार की पात्रता के लिए शिल्पी को मध्यप्रदेश का मूलनिवासी होना  आवश्यक है । शिल्पी का पंजीयन एवं निवास अनुशंसा करने वाले जिले में होना  चाहिए । शिल्पी  का संत रविदास मध्यप्रदेश हस्तशिल्प एवं हथकरघा विकास निगम अथवा कपड़ा मंत्रालय, भारत सरकार के विकास आयुक्त (हस्तशिल्प कार्यालय) में पंजीकृत होना  भी आवश्यक है।  जिलों में प्राप्त आवेदन पत्र जिला स्तरीय समिति द्वारा चयनित किए जाएंगे। इस प्रक्रिया के बाद वर्षांत तक चयनित शिल्पी पुरस्कृत किए जाएंगे।