कोरोना संकट : मोदी सरकार ने काटे सांसदों के 30% वेतन, तो कांग्रेस पार्टी की तरफ से आया ये बयान...!


Coronavirus: कोरोना वायरस(Coronavirus) से देश में बढ़ते संकट के बीच केंद्र सरकार(Central Government) ने सभी सांसदों के वेतन से 30 प्रतिशत कटौती करने का ऐलान किया है.


सरकार के इस ऐलान के बाद मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस पार्टी(Congress) की तरफ से रिएक्शन आया है. कांग्रेस पार्टी के सीनियर नेता और सांसद अहमद पटेल(Ahmed Patel) ने इस पर अपना बयान दिया है.


अहमद पटेल ने मीडिया के सामने अपने बयान में कहा कि एक सांसद के रूप में वह सांसदों के वेतन में 30 प्रतिशत की कटौती के सरकार के फैसले का स्वागत करते हैं. उन्होंने कहा कि इस कठिन समय में हम सभी सांसद अपने देश के लोगों के लिए कम से कम इतना तो कर ही सकते हैं.


मोदी सरकार के इस फैसले की कांग्रेस के दिग्गज नेता जयराम रमेश ने भी तारीफ की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि वह केंद्र सरकार के इस फैसले का स्वागत करते हैं. जयराम रमेश ने कहा कि लंबे समय से वह तर्क देते रहे हैं कि विकास के कार्यों के लिए देश के सांसदों और विधायकों को सालाना दिए जाने वाले लगभग 7 हजार करोड़ रुपये का इस्तेमाल कोष के रूप में किया जाना चाहिए.


गौरतलब है कि कोरोना महामारी के मद्देनजर केंद्र सरकार ने फैसला किया कि प्रधानमंत्री, केंद्र के मंत्रियों और देश के सभी सांसदों के वेतन में एक साल के लिए 30 फीसदी की कटौती की जाएगी. इसके साथ ही सरकार ने सांसद निधि को भी दो साल के लिए निलंबित कर दिया. 


सरकार की तरफ से प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सभी केंद्रीय मंत्रियों और सभी सांसदों ने खुद एक साल के लिए वेतन का 30 फीसदी हिस्सा नहीं लेने का निर्णय किया है. इसके बाद केंद्रीय कैबिनेट ने सभी के इस निर्णय पर मुहर लगा दी. इसकी बैठक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई थी. जावड़ेकर ने बताया कि कटौती 1 अप्रैल 2020 से लागू होगी.